Select Language

Check Application Status
en

Resource Zone

लग्जरी आइटम हुए बाहर। वित्तीय सुरक्षा का बढ़ा महत्व।

Liz DeCarlo

Rate 1 Rate 2 Rate 3 Rate 4 Rate 5 0 Ratings Choose a rating
Please Login or Become A Member for additional features

Note: Any content shared is only viewable to MDRT members.

उपभोक्ता रवैयों में हाल के बदलाव कैसे एडवाइजर्स के लिए एक अच्छी चीज हो सकते हैं।
Illustration by Dave Cutler

अगर हम “न्यू नॉर्मल” शब्दों को एक बार और सुनते हैं तो इसे महसूस करना आसान है, हम केवल चिल्लाने जा रहे हैं। जोर से। और बहुत निराशा के साथ। लेकिन मुश्किल यह हैः नॉर्मल कभी भी वैसा नहीं होगा जैसा मार्च 2020 से पहले था। इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन से शब्दों का इस्तेमाल करते हैं, उपभोक्ताओं का कैसा व्यवहार है और एडवाइजर्स कैसे इसका जिक्र कर रहे हैं जैसा इस वर्ष फरवरी में कोई भी नहीं सोच सकता था।

लेकिन अगर 2020 की मुश्किलों से कुछ अच्छा मिल सके – उपभोक्ता कैसे अपनी वित्तीय स्थिति को संभालते हैं और रिस्क प्रॉडक्ट्स को देखते हैं, इसमें एक लंबी अवधि तक चलने वाला और बड़ा अंतर – तो कैसा रहेगा?

“उपभोक्ताओं के खर्च करने का तरीका बदला है। लोगों ने ट्रैवल, मनोरंजन और लग्जरी खरीदारी की अपनी जरूरत को घटाया है,” Renyu Xu, लासाल, क्युबेक, कनाडा से 8-वर्ष MDRT मेंबर ने बताया। “वे केवल ऐसी खरीदारी कर रहे हैं जिसकी उन्हें जीने के लिए जरूरत है, और लाइफ और हेल्थ प्रोटेक्शन प्रॉडक्ट्स के बारे में दोबारा सोच रहे हैं।”

इसके साथ ही, महामारी के आर्थिक प्रभाव के कारण अचानक इनकम या संपत्तियों को गंवाने की वास्तविकता ने एडवाइजर्स के लिए क्लाइंट्स से एक महत्वपूर्ण प्रश्न पूछना आसान बना दिया हैः अगर आप आर्थिक मुश्किलों के चार या पांच महीनों के दौरान अपने परिवार की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं रख सकते, तो रिटायरमेंट के 30 वर्ष कैसे होंगे?

उपभोक्ता व्यवहार पर वापस

ठीक है, तो उपभोक्ता स्टारबक्स कॉफी को कम खरीद रहे हैं और महंगी छुट्टियों पर नहीं जा रहे। लेकिन जब आप वास्तव में महत्वपूर्ण पहलुओं को देखते हैं, उपभोक्ता आदतों में क्या बड़ा बदलाव हुआ है?

चलिए फाइनेंशियल प्लानिंग के सबसे मूलभूत तत्वों में से एक के साथ शुरुआत करते हैं। वर्षों तक, आपको शायद इच्छाओं और जरूरतों के बीच अंतरों के बारे में बताया गया था। दुर्भाग्य से, बहुत से उपभोक्ताओं ने अंतर को नहीं देखा था। जब तक महामारी ने वित्तीय तबाही नहीं की थी।

इस महामारी के कारण उपभोक्ताओं ने अपनी जीवनशैली, पसंदों को बदला है, वे इच्छाओं के बजाय जरूरतों पर अधिक ध्यान दे रहे हैं, इच्छाओं को किनारे कर दिया गया है, Agnes Ng, मकाती, फिलिपींस से आठ-वर्ष मेंबर ने कहा। “बाहर डिनर करने के बजाय घर पर कुकिंग करने और सेहतमंद भोजन खाने; से लेकर एक मेडिकल प्लान और इंश्योरेंस प्रोटेक्शन प्लान खरीदने की अधिक जागरूकता तक। बड़े नजरिए को देखने पर, इस महामारी ने वास्तव में उम्मीद से अधिक सकारात्मक परिणाम दिए हैं।“

और बदलाव सभी आयु समूहों और पीढ़ियों तक फैले हैं। “महामारी ने विशेषतौर पर मेरी पीढ़ी (मिलेनियल्स) के लिए कम खर्च का एक नया दौर शुरू किया है। युवा लोग कम भौतिकवादी बन गए हैं,” Kimberly Anne, मकाती से पांच-वर्ष मेंबर ने कहा। उनका कहना है कि उपभोक्ता वित्तीय अनिश्चितता से डरे हैं और उन्होंने अपना खर्च ग्रॉसरी और परिवार की जरूरत के सामान जैसी आवश्यक वस्तुओं पर रखा है।

एक अन्य क्षेत्र जिसे अब कुछ उपभोक्ता एक इच्छा के बजाय एक जरूरत के तौर पर देख रहे हैं रिस्क प्रोटेक्शन का है। स्वास्थ्य को लेकर नई चिंताओं के साथ, एडवाइजर्स को उपभोक्ताओं के रवैये में बदलाव दिख रहा है और वे विशेषतौर पर इनकम जारी रहने के लिहाज से सुरक्षा के महत्व को पहले से अधिक समझ रहे हैं। बहुत से लोग यह देखने के लिए अपने वर्तमान प्रोटेक्शन की जल्द समीक्षा करना चाहते हैं कि यह पर्याप्त है या नहीं।

सहायता की खोज कर रहे उपभोक्ता

संकट के कारण उपभोक्ता एक एडवाइजर के बिना अपनी वित्तीय स्थिति को संभालने की अपनी क्षमता को लेकर भी निश्चित नहींहैं। ऑस्ट्रेलिया में, बड़ी संख्या में फाइनेंशियल प्लानिंग DIY किताबें मौजूद हैं और सोशल मीडिया पर यह दावा किया जाता है कि कम लागत वाले रोबो एडवाइजर्स के जरिए एडवाइज लेना एक आसान प्रक्रिया है, Nick Longo, ADFP ने बताया।

“इस महामारी और आर्थिक संकट ने साबित किया है कि कोई शॉर्टकट नहीं हैं। DIY किताबों और रोबो एडवाइज की सीमित पहुंच है, विशेषतौर पर ऐसे संकट से निपटने में। यह कम व्यक्तिगत है और एक व्यक्ति की परिस्थितियों के विवरण में नहीं जाती।“

मैंने अपना ट्रैवल 95% और खर्चे 62% कम किए हैं, और मेरे जीवन में इससे बेहतर संतुलन नहीं था।
— Alessandro M. Forte, FPFS

रिचमंड, विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया से तीन-वर्ष मेंबर, Longo उपभोक्ताओं में एक बदलाव देख रहे हैं जो एक अनुभवी फाइनेंशियल प्लानर के जरिए अपनी व्यक्तिगत जरूरतों और परिस्थितियों के अनुसार विस्तृत और समग्र एडवाइज चाहते हैं।

और कुछ क्लाइंट्स के पास अपनी वित्तीय स्थिति के बारे में बात करने के लिए अधिक समय भी है, क्योंकि बहुत कुछ धीमा है या रुक गया है। Glen Wong के पास बहुत से हाई नेटवर्थ क्लाइंट हैं जो उनसे मिलने और अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग के रिव्यू के लिए अक्सर बहुत व्यस्त होते थे।

पिछले कुछ महीनों के दौरान, वह अपने अधिकतर क्लाइंट्स को कॉल करते रहे हैं और आखिरकार एक ऐसे क्लाइंट से उनका संपर्क हुआ जो महामारी से पहले इतना व्यस्त थे कि उनसे बात करने के लिए समय तय करना भी बहुत मुश्किल था। इस बार, Wong ने न केवल क्लाइंट से संपर्क किया, बल्कि फोन पर एक घंटे से अधिक बिताया।

“उस कॉल से यह पता चला कि वह लाइफ इंश्योरेंस के लिए $13 मिलियन की कवरेज चाहते हैं “, हांगकांग, चाइना से छह-वर्ष मेंबर Wong ने बताया। “इस केस के पूरा होने पर, यह एक वेल्थ मैनेजमेंट एडवाइजर के तौर पर सात वर्षों में मेरी सबसे बड़ी डील होगी।“

उपभोक्ता अपने जीवन को लेकर गंभीर हो रहे हैं

महामारी के बढ़ने और दुनिया के प्रत्येक कोने में फैलने के कारण, अधिक उपभोक्ता लाइफ इंश्योरेंस के महत्व को समझ रहे हैं। और, वायरस के लंबी-अवधि के प्रभावों के बारे में हमारी समझ बेहतर होने के साथ, उपभोक्ताओं की हेल्थ, गंभीर बीमारी और डिसएबिलिटी इंश्योरेंस में दिलचस्पी बढ़ी है।

“इसने लोगों को अपने जीवन के बारे में अधिक सोचने पर मजबूर किया है। मैंने लोगों की अपनी लाइफ इंश्योरेंस को रिव्यू करने, और अपनी विल और एस्टेट प्लानिंग के बारे में बातचीत करने की अधिक इच्छा देखी है”, Bhupinder S. Anand, ACII, Dip PFS ने बताया। “हमारे पास कोविड-19 से जुड़े कुछ डेथ क्लेम, और विल को लागू करने की प्लानिंग और इनवेस्टमेंट से जुड़ा कार्य भी आया है।

“मैं क्लाइंट्स को यह भी बताता हूं कि लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम बढ़ने की संभावना है, क्योंकि इंश्योरेंस कंपनियां अनुमान से अधिक क्लेम्स का भुगतान कर रही हैं और कोविड-19 से ठीक हुए लोगों को लंबी अवधि में स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं होने के बारे में चिंतित हैं और कुछ स्थितियों को बाहर भी किया जा सकता है”, गेरार्ड्स क्रॉस, इंग्लैंड से 24-वर्ष मेंबर आनंद ने कहा।

वर्चुअल इफेक्ट्स से निपटना

और, निश्चित तौर पर, महामारी के शुरू होने के बाद से सबसे स्वाभाविक बदलावः फाइनेंशियल सर्विसेज का व्यक्तिगत तौर पर और आमने-साने का तरीका वर्चुअल हो गया है, और बहुत से उपभोक्ता शायद कभी वापस नहीं जाएंगे। यह सामने आया है कि बहुत से लोग अपने एडवाइजर से वर्चुअल तरीके से मिलने के आइडिया को पसंद करते हैं। तो जूम लाइफस्टाइल अच्छे कारण से बरकार रह सकता है, महामारी के इतिहास बनने के बाद भी।

Joel Phillip Campbell, ADFS, FChFP, सहमत हैं। “हमारे कई क्लाइंट्स हमें बताते हैं कि वे जूम मीटिंग्स के साथ बने रहना पसंद करेंगे, क्योंकि इससे समय बचता है”, सिडनी, ऑस्ट्रेलिया से 15-वर्ष मेंबर, Campbell ने कहा। “कुछ ने कहा है कि प्रत्येक वर्ष एक रिव्यू करना बड़ा बोझ नहीं है क्योंकि हमारे पास आने के लिए ट्रैवल करने की तुलना में जूम के जरिए यह करना आसान है।“

वर्चुअल मीटिंग्स से एडवाइजर्स के लिए मीटिंग रूम में अपने जीवनसाथी और बच्चों को निमंत्रण देना और शामिल करना आसान हो गया है। कभी कार्यशील दंपत्तियों के लिए एक साथ समान कमरे में आना बहुत मुश्किल था, लेकिन अब वे केवल अपना लैपटॉप ओपन कर एक साथ कॉल में शामिल हो सकते हैं। इससे कार्यशील अभिभावकों को भी सहायता मिली है। उदाहरण के लिए, एक मां ने अपने एडवाइजर से बातचीत करने का ऐसा समय निर्धारित किया जब उनका छोटा बच्चा सोता है।

केवल क्लाइंट्स ही ऑनलाइन मीटिंग करना पसंद नहीं कर रहे। कुछ एडवाइजर्स वर्चुअल वर्कप्लेस को अपनी प्रैक्टिस में जारी रखने की योजना बना रहे हैं, जीवन के कुछ सामान्य स्थिति में लौटने के बाद भी। ट्रैवल नहीं करने से दिन में बचने वाले अतिरिक्त घंटे, ड्राइविंग कर एक दिन में तीन लोगों से मिलने के बजाय वर्चुअल तौर पर 10 लोगों से मिलने का अवसर, और व्यस्त क्लाइंट्स की दिन में एक कॉल के लिए उपलब्ध रहने की क्षमता का मतलब है कि वर्चुअल मीटिंग्स के बरकरार रहने की संभावना है।

जूम के बारे में क्लाइंट्स की राय से वास्तव में Campbell ने अपने लाइफस्टाइल में विकल्पों के बारे में भी सोचना शुरू किया है, विशेषतौर पर वह कहां रहते हैं और उनका ऑफिस कहां है, इस लिहाज से। “हम ऑफिस को आगे ले जाने पर शायद निर्भर नहीं कर रहे, बल्कि तकनीक और घर पर ऑफिस पर अधिक निर्भर हो रहे हैं।“

जो एडवाइजर्स क्लाइंट्स से मिलने के लिए सड़क के रास्ते ट्रैवल करने या विमानों पर सवार होने के आदी थे, उन्हें शटडाउन ने क्लाइंट्स के साथ कार्य करने के साथ परिवार के लिए अधिक समय रखने के नए तरीके के बारे में सोचने का समय दिया है।

“मैंने अपना ट्रैवल 95% और खर्चे 62% कम किए हैं, और मेरे जीवन में इससे बेहतर संतुलन नहीं था।”, Alessandro M. Forte, FPFS, लंदन, इंग्लैंड से 22-वर्ष मेंबर ने बताया। “बदलाव हमेशा मुश्किल होगा, लेकिन अगर हम इसे अपनाते हैं, यह बड़ा मोड़ हो सकता है।”

आर्थिक संकट के दौरान क्लाइंट्स मानसिक शांति चाहते हैं।

जॉब की सिक्योरिटी को लेकर वित्तीय मुश्किलें और स्वास्थ्य को जोखिम से परिवार के कमाने वाले व्यक्ति रात को जगे रह सकते हैं, Arlyn Tiong Tan, MBA, FChFP, मनीला, फिलिपींस से 14-वर्ष मेंबर ने कहा। दोस्तों और परिवार के सदस्यों की मृत्यु से हुआ दुख, और कोविड-19 के लगातार समाचारों से असहाय होने की स्थिति परेशान कर सकती है।

Tan ने कहा, “एक एडवाइजर से वित्तीय सलाह लेना मानसिक सुकून प्राप्त करने के लिए एक कार्य है।” “प्लानिंग, विशेषज्ञों के साथ बातचीत और सुरक्षा उपलब्ध कराने वाली इंश्योरेंस खरीदने से चिंता का समाधान हो सकता है”

Jennifer Claudette Khan, FSCP, MFA, ने पाया है कि क्लाइंट्स को त्रिनिदाद और टोबैगो के उनके घर में कुछ राहत मिली है। महामारी की शुरुआत में बहुत से लोग हैरान थे, और वे एक आपात योजना के साथ तैयार नहीं थे। उनके पास आपात स्थिति के लिए अलग फंड नहीं था, और बहुत से लोग जीवन चलाने के लिए सैलरी आने पर निर्भर थे।

“आने वाले समय में बेहतर स्थिति के लिए इनमें से बहुत से लोगों को एडवाइज देकर मैं खुश था”, खान, 26-वर्ष मेंबर ने कहा। “इससे वास्तव में मुझे उद्देश्य की एक समझ मिली क्योंकि मैंने उनके चेहरों पर राहत देखी क्योंकि उन्होंने मेरी ओर से सुझाए गए आइडिया और प्लान को लागू किया था। जब उन्होंने महसूस किया कि मेरे मार्गदर्शन के साथ अब उनकी ओर से लिए गए निर्णयों से उनके पास भविष्य के अपने लाइफस्टाइल को बदलने की क्षमता आई है तो फाइनेंशियल मैनेजमेंट के प्रति उनका रवैया बदल गया था।

खान की एक क्लाइंट थी, दो छोटे बच्चों के साथ अकेली मां, जिसने खुलकर खर्च किया था, अप्रत्याशित स्थितियों पर ज्यादा ध्यान न देकर। महामारी शुरू होने पर, वह अपने और अपने परिवार की सभी जरूरतें पूरी करने में सक्षम नहीं थी, भले ही उनकी इनकम अच्छी थी।

खान ने उन्हें वित्तीय स्थिति दोबारा व्यवस्थित करने में सहायती की जिससे वह सामने आए संकट से निपट सकें। क्लाइंट को जल्द ही बहुत अधिक बचत करने की जरूरत का पता चल गया, और उन्होंने आपात स्थितियों के लिए विभिन्न एरिया में अपनी बचत को बांट दिया।

“मेरे मार्गदर्शन के साथ, वह आने वाले समय के लिए इसे लेकर आश्वस्त महसूस कर रही थी कि ऐसा संकट दोबारा होने पर वह और उनके बच्चे अधिक बेहतर स्थिति में होंगे।”

अपनाना

“मेरा मानना है कि उपभोक्ता नए बदलावों को कहीं अधिक अपना रहे हैं। तो, बहुत से लोग अब घर से कार्य करने का अधिक लाभ उठा रहे हैं, कुकिंग कर रहे हैं, सब्जियां उगा रहे हैं और पुरानी मूलभूत चीजों की ओर वापस जा रहे हैं। ‘पड़ोसियों से लाइफस्टाइल की तुलना’ वाली पुरानी कहावत, ट्रैवल पर अधिक खर्च, एक से दूसरे स्थान पर जाने में व्यस्त होना और परिवार और दोस्तों से मिलने का समय न निकालना, लगभग गायब हो गया है।“

Jenny Brown, CFP, FChFP, 12-वर्ष मेंबर, मेलबर्न, विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया

अतिरिक्त बचत

“U.K. में, लोगों की इनकम कुछ स्थिर हो गई है। इसके साथ ही वे आने-जाने, छुट्टियों के लिए ट्रैवल और एक्टिविटीज, बाहर लंच और कपड़ों पर अक्सर खर्च नहीं कर रहे, और आपको उपभोक्ता कुछ अधिक धन के साथ मिल रहे हैं। कुछ ने इस अतिरिक्त कैश का इस्तेमाल कर्ज चुकाने और नए बचत के लिए करने में किया है।“

Bhupinder S. Anand, ACII, Dip PFS, 24-वर्ष मेंबर, गेरार्ड्स क्रॉस, इंग्लैंड

न्यूनतम के साथ जीना

“शुरुआती प्रतिक्रिया यह थी कि प्रत्येक व्यक्ति अधिक स्टॉक जमा कर रहा था! अगर हमारे पास क्लोरॉक्स, ब्रेड या कोई अन्य सामान समाप्त हो गया तो क्या होगा? लेकिन समय बीतने के साथ, रवैयों में एक बड़ा बदलाव आ गया था। निश्चित तौर पर इनकम लेवल कम हुए थे, इससे खर्च करने की क्षमता घटी थी। कोविड-19 के लंबी अवधि तक रहने का तथ्य सामने आने पर, लोगों ने यह महसूस करना शुरू कर दिया कि कम संसाधन होना, कम के साथ जीना ठीक है। ‘मेरे पास और क्या हो सकता है या होना चाहिए?’ से सोच ‘मैं किसके बिना चल सकता हूं’ में बदल गई। कुछ लोगों के लिए, न्यूनतम के रहना वास्तव में जीवन का एक तरीका बन गया है।“

Priti Ajit Kucheria, LUTCF, CFP, मुंबई, इंडिया से 19-वर्ष मेंबर

रिस्क प्रॉडक्ट्स

“समग्र तौर पर, मेरा मानना है कि महामारी के कारण बहुत से लोगों का ध्यान रिटायरमेंट प्लानिंग से बदलकर रिस्क मैनेजमेंट से जुड़े प्रॉडक्ट्स पर गया है। शुरुआत में, हमने अपने क्लाइंट्स से लाइफ इंश्योरेंस को लेकर प्रश्नों में काफी बढ़ोतरी देखी थी। अब हम दिलचस्पी बदलकर इनकम प्रोटेक्शन प्रॉडक्ट्स पर जाती देख रहे हैं, क्योंकि लोगों को रिकवरी के बाद भी लंबी-अवधि के संभावित प्रभाव महसूस होने लगे थे।

David C. Blake, 20-वर्ष मेंबर, हैरिसन, न्यूयॉर्क

 

{{GetTotalComments()}} Comments

Please Login or Become A Member to add comments