Select Language

Check Application Status
en

Resource Zone

खुद को निर्मित करें, अपने ब्रांड को निर्मित करें

Rahul Rohit Dhanani

Rate 1 Rate 2 Rate 3 Rate 4 Rate 5 0 Ratings Choose a rating
Please Login or Become A Member for additional features

Note: Any content shared is only viewable to MDRT members.

अपने व्यवसाय को स्थायी रूप से विकसित करने के आसान चरण कदम।

प्रत्येक बच्चे का पहला रोल मॉडल उसके माता-पिता होते हैं। मैं इस मामले में भाग्यशाली रहा, मेरे पिता और दादा ने मुझे कई ऐसी चीजें सिखाईं, जिनसे मुझे व्यवसाय को सफल बनाने में मदद मिली और साल-दर-साल नए व्यवसाय खड़े करता गया। उनकी सलाह दो विचारों पर केंद्रित थी : खुद को और अपने ब्रांड को निर्मित करें।

अपने उद्देश्य का पता लगाएँ। आपका उद्देश्य निस्वार्थ होना चाहिए और दूसरों की भलाई के लिए होना चाहिए। यह जीवन को सार्थक बनाने के लिए प्रेरक शक्ति है। जो लोग अपने उद्देश्य की खोज करते हैं, वे अपनी मानसिक और रचनात्मक ऊर्जा का उपयोग खुद से कुछ बड़ा करने के लिए करते हैं।

किसी को अपना मेंटर बनाएँ। मेंटर एक रोल मॉडल होता है, जिसने सफलता प्राप्त की है और वहां इसी के लिए है। सौभाग्य से मेरे परिवार में एक मेंटर था। मेंटर आपको सही दिशा में मार्गदर्शन कर सकता है, आपका समर्थन कर सकता है और आपको अपने सपनों के पीछे भागने के लिए प्रेरित कर सकता है। इससे आपको अपनी क्षमता को अधिकतम करने, नया कौशल विकसित करने और अपने प्रदर्शन में सुधारने में मदद मिलेगी। आदर्श रूप से, आपके पास जीवन के विभिन्न पहलुओं के लिए अलग-अलग मेंटर होने चाहिए।

आत्म-प्रबंधन का अभ्यास करें। आत्म-प्रबंधन सफलता की कुंजी है। उचित योजना और आयोजन के साथ, आप समय का प्रभावी ढंग से उपयोग कर सकते हैं और तनाव मुक्त रह सकते हैं। दिनचर्या में शामिल करने के लिए किसी भी कार्य को कम से कम एक महीने तक बार-बार करें।

ना कहने की क्षमता का प्रदर्शन करें। हम डर या खुद को अच्छा दिखाने के लिए अक्सर हाँ कहते हैं। सफल लोगों में अवांछित, कम महत्वपूर्ण और ऐसे कार्यों के लिए ना कहने की क्षमता होती है, जो वे करना नहीं चाहते। इससे आपको अपने लक्ष्य और सपनों पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी।

स्मार्ट लक्ष्य निर्धारित करें। स्मार्ट लक्ष्य वे महत्वाकांक्षाएं हैं, जो विशिष्ट, मापने योग्य, असाइन करने योग्य, यथार्थवादी और समयबद्ध हैं। विशिष्टता लक्ष्यों को प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करती है। जब लक्ष्य मापने योग्य होते हैं, तो यह समझना आसान होता है कि आप कहाँ जा रहे हैं या उसमें कहाँ कमी है। असाइन करने योग्य का मतलब है कि इसे डेलिगेट करना आसान है, और समय-सीमा लक्ष्य को यथार्थवादी बनाती है।

अपना बड़ा आइडिया खोजें। अपने बड़े आइडिया तक पहुंचने के दो तरीके हैं: या तो यह यूनिक और आपकी रचना है, या यह पहले से मौजूद शैली है जिसका आप अनुकरण करते हैं। क्लाइंट के लिए व्यक्तिगत स्पर्श और मूल्य अवसर विकसित करके एक मजबूत ब्रांड बनाएँ। याद रखें, यह ब्रांड ही है जो बेचता है, न कि सामान और सेवाएं। अपने ऑफर को अंतिम रूप देने से पहले, अपने बाज़ार, क्लाइंट प्रोफ़ाइल और बिक्री चैनल को समझने के लिए शोध करना महत्वपूर्ण है।

अपने विज़न, मिशन और मूल मूल्यों को निर्धारित करें। विजन कंपनी के लिए आपका लक्ष्य है, और मिशन आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने का मार्ग है। विज़न अल्पकालिक (एक से तीन वर्ष) या दीर्घकालिक (पांच वर्ष या अधिक) हो सकता है। अनुभव और बदलते समय के साथ विज़न बदलेगा। अपनी कंपनी के मुख्य मूल्यों को लिखना सुनिश्चित करें।

विभाजन, लक्ष्यीकरण और स्थापन पर काम करें। क्लाइंट किसी भी व्यवसाय मॉडल का दिल होते हैं। लाभदायक क्लाइंट के बिना, कोई भी कंपनी जीवित नहीं रह सकती। क्लाइंट को बेहतर ढंग से संतुष्ट करने के लिए, उन्हें सामान्य आवश्यकताओं, व्यवहारों या विशेषताओं के आधार पर अलग-अलग खंडों में समूहबद्ध करें। इस बारे में सचेत निर्णय लें कि कौनसे खंड को सेवाएं देनी हैं और किसे नज़रंदाज़ करना है। लक्ष्य विपणन क्लाइंट की पहचान करने और सभी माध्यमों से उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देने की एक प्रक्रिया है, जो सीधे संभावित क्लाइंट तक पहुंचेंगे। स्थापन (पोजिशनिंग) क्लाइंट के दिमाग में उत्पाद का स्पष्ट, विशिष्ट और वांछनीय स्थान बनाने की व्यवस्था है।

एक्स-फैक्टर को पहचानें। आपका एक्स-फैक्टर आपके व्यवसाय के लिए सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। यही वो कारण है जिसके चलते क्लाइंट आपके पास आएगा और बार-बार आपसे खरीदेगा। प्रत्येक एक्स-फैक्टर में उत्पादों और सेवाओं का एक चयनित बंडल होता है, जो विशिष्ट क्लाइंट सेगमेंट की आवश्यकताओं को पूरा करता है। कुछ फैक्टर नवीन हो सकते हैं और एक नए विघटनकारी प्रस्ताव का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं, जबकि अन्य मौजूदा फैक्टर के समान हो सकते हैं लेकिन कुछ अतिरिक्त व्यक्तिगत स्पर्श के साथ। क्लाइंट आपसे तभी खरीदेंगे जब वे आपकी कंपनी और सेवाओं में मूल्य पाएंगे।

सिस्टम लागू करें। सिस्टम आपके व्यवसाय के निर्बाध संचालन के लिए आवश्यक हैं। यह निरंतर सुधार, त्रुटियों और दोषों को दूर करने में मदद करता है। PDCA (प्लान-डू-चेक-एक्ट), गुणवत्ता प्रबंधन, प्रोसेस मैपिंग और टेक्नोलॉजी का उपयोग किसी भी कंपनी के सिस्टम को परिभाषित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

मुंबई, भारत निवासी Rahul Dhanani 11-वर्षों से MDRT सदस्य हैं। उन्होंने 2019 के MDRT वैश्विक सम्मेलन में भाषण दिया था। उनसे dhanani.lic@gmail.com पर संपर्क करें।

 

{{GetTotalComments()}} Comments

Please Login or Become A Member to add comments