Select Language

Check Application Status
en

Resource Zone

#स्वयंदेखभाल: यह हैशटैग से कहीं ज्यादा है

Elizabeth Diffin

Rate 1 Rate 2 Rate 3 Rate 4 Rate 5 0 Ratings Choose a rating
Please Login or Become A Member for additional features

Note: Any content shared is only viewable to MDRT members.

कभी-कभी, सलाहकार बनना कठिन, भावनात्मक रूप से थकाने वाला हो सकता है।

यदि आप किसी दिन सोशल मीडिया साइट को स्क्रॉल करते हैं, तो शायद आप किसी को #सेल्फकेयर से टैग किया हुआ पाएं। लेकिन जब लोकप्रिय हैशटैग को अक्सर अनुग्रहशील गतिविधियों पर लागू किया जाता है जैसे कि डीप-टिश्यू मसाज़ या एक फैंसी भोजन, तो स्वयं-देखभाल केवल एक मेम-योग्य खोज से अधिक है। और वित्तीय सलाहकारों के लिए, यह पेशे में अच्छे मानसिक स्वास्थ्य का एक अनिवार्य घटक है जो तनावपूर्ण, थका देने वाला और कभी-कभी निराशाजनक भी हो सकता है।

हर व्यवसाय की अपनी चुनौतियां हैं, अनुसंधान से पता चलता है कि वित्तीय सलाहकार अन्य क्षेत्रों के लोगों की तुलना में बहुत अधिक तनाव स्तर की रिपोर्ट करते हैं। फ्लेक्स शेयर्स एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स द्वारा अक्टूबर 2018 में किए गए एक अध्ययन, "इनसाइट इन्टू एडवाइजर वेलनेस," में पाया गया कि संयुक्त राज्य अमेरिका में, सर्वेक्षण में भाग लेने वाले वित्तीय सलाहकारों ने औसत तनाव स्तर की रिपोर्ट की जो राष्ट्रीय मानदंडों से 23.3% अधिक था। इस बड़े अंतर के कई कारण हो सकते हैं; सर्वेक्षण में पाया गया कि ग्राहक अधिग्रहण तनाव का प्राथमिक कारण था, जिसके बाद नियामक और अनुपालन चिंताएं थीं।

कभी-कभी, सलाहकार बनना कठिन, भावनात्मक रूप से थकाने वाला हो सकता है। यह इस पर ध्यान देने का समय है कि आप इसे कैसे संभाल रहे हैं।

मेलबर्न, विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया के 11 वर्षों से MDRT सदस्य जेनी ब्राउन, CFP, FChFP, अपने देश में भी इसका प्रमाण देखती हैं। ऑस्ट्रेलिया के सख्त नियामक परिवर्तनों से अब सभी परिचित हैं, लेकिन विशेष रूप से शिक्षा की नई आवश्यकताओं ने अपना दुष्परिणाम दिखाना शुरू कर दिया है।

ब्राउन ने कहा, "बहुत से सलाहकारों के लिए यह बेहद तनावपूर्ण है, विशेष रूप से जोखिम सलाहकार, जिन्होंने ज्यादा अध्ययन नहीं किया है।" "मैं क्रोध और दु:ख के संकेत दिखाई देखता हूँ।"

जिस तरह का कार्य वित्तीय सलाहकार करते हैं – ग्राहकों की जीवन के अंत संबंधी फैसले लेने, बीमारी और मृत्यु से गुजरने, प्रियजनों के भविष्य की योजना बनाने में सहायता करना – उनके मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव डाल सकता है।

ऑक्सफोर्डशायर, इंग्लैंड के 14 वर्षों के MDRT सदस्य डीन गैरेथ हॉब्स, ने कहा, “वित्तीय सेवाओं में सहानुभूति जरूरी है, लेकिन इसका मतलब है कि एक भावनात्मक रोलरकोस्टर।” “आपके कुछ ग्राहक केवल ग्राहक नहीं हैं। उनसे रिश्ता और भी नजदीकी है।”

हॉब्स ने पाया है कि इस तरह के नजदीकी रिश्तों को बढ़ावा देना इसे और भी दुखदाखी बना देता है जब एक ग्राहक किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हो जाता है या गुजर जाता है और अपने पीछे एक शोक मनाते परिवार को छोड़ जाता है। फ्लेक्सशेयर्स अध्ययन उनके अनुभवों की पुष्टि करता है; इसमें पाया गया कि ग्राहक के साथ ज्यादा भावनात्मक भागीदारी बहुत बार सलाहकारों के मानसिक स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव डालती है।

हॉब्स ने कहा “मुझे लगता है कि सभी ग्राहकों की मौत का आपके मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। “इसमें कोई संदेह नहीं है कि अन्य कार्य प्रतिबद्धताओं और दैनिक जीवन के सामान्य तनाव के साथ इस तरह का दुखद समाचार सुनना आप पर प्रभाव डालता है। मुझे यह कहने में कोई शर्म नहीं है कि मैं निश्चित रूप से ग्राहकों के साथ बातचीत के दौरान रोया हूं।"

इसी तरह, सिंडी हुआंग मीपिंग, AFP एक खास ग्राहक, 37 वर्षीय बुजुर्ग व्यक्ति को नहीं भूल पाएंगे जिनकी एक गोताखोरी हादसे में मौत हुई थी। जैसे कि इतना काफी दुःख पहुंचाने वाला नहीं था, उसने एक गर्भवती विधवा और एक छोटे बच्चे को पीछे छोड़ दिया था।

वित्तीय सेवाओं में, सहानुभूति आवश्यक है, लेकिन यह एक भावनात्मक रोलरकोस्टर है।
- डीन हॉब्स

सिंगापुर के 12 वर्षों से MDRT सदस्य मीपिंग ने कहा “मुझे समझ नहीं आ रहा था और मैं थोड़ा असहाय था।” “लेकिन मुझे पता था कि उसे और उनके परिवार को समर्थन देने के लिए मुझे मजबूत होना ज़रूरी था।”

ऐसे ग्राहकों के लिए जो मुश्किल हालातों से गुजर रहे हैं इसे खाली दिमाग से किया जाना और विश्वसनीय होना ज़रूरी है, और यह एक कारण है कि स्वयं की देखभाल इतनी ज़रूरी क्यों है। न्यू यॉर्क स्थित मनोचिकित्सक एल्डन कैस, जो वित्तीय सलाहकारों में विशेषज्ञता रखते हैं, अपने कार्य को सलाहकारों द्वारा अपने ग्राहकों के साथ किए जाने वाले कार्य जैसा बताते हैं।

कैस ने कहा, “मेरा काम यहाँ आत्मविश्वास, दृढ़ निश्चय और निष्पक्षता के साथ बैठना है और ग्राहकों को यह आश्वासन देते हुए कि मेरे पास उनकी सहायता करने के लिए सही रणनीतियां और टूल्स हैं, उन्हें स्वयं अपने गेमप्लान को बनाने में सहायता करना है। “वित्तीय सलाहकारों को अपने ग्राहकों के लिए यही करना होता है। एक वित्तीय सलाहकार का काम है उन्हें आश्वासन और मूलतः एक उपचार योजना देना है – वे कैसे सेवानिवृत्त होंगे, उनकी संपत्ति की रक्षा कैसे करें।”

कैस ने 2008 में हुए वैश्विक वित्तीय संकट के समय सलाहकारों की मानसिक स्वास्थ्य परेशानियों में काफी बढ़ोत्तरी पाई। जबकि चीज़ें अब सुधर गई हैं अभी भी बाज़ार में सुधार की बात आते ही सलाहकारों के बीच काफी डर और संदेह उत्पन्न हो जाता है। फ्लेक्सशेयर्स अध्ययन बताता है कि: यहाँ तक कि अपेक्षाकृत स्थिर अर्थव्यवस्था में भी, वित्तीय सलाहकारों के लिए बाजार की चिंता चौथा सबसे बड़ा तनाव का कारण था।

सीओल, दक्षिण कोरिया के छह वर्षों से MDRT सदस्य हो येल जिओंग, पाते हैं कि ग्राहकों के डर से जूझना एक सलाहकार होने का सबसे चुनौतीपूर्ण कार्य हो सकता है।

उन्होंने कहा, “मैं अपने ग्राहकों के पास और परामर्शों पर पूरी निष्ठां से जाता हूँ लेकिन कभी-कभी मैं घोर अस्वीकरण या अविश्वसनीयता का सामना करता हूँ और दुखी हो जाता हूँ। “मैं तब भी दुखी हो जाता हूँ जब मैं मौजूदा ग्राहकों से शिकायतें प्राप्त करता हूँ या जब बिना पूर्व सूचना के अनुबंध को रद्द कर दिया जाता है।”

“इनसाइट इन्टू एडवाइजर वेलनेस” ने पाया कि आयु और अनुभव दोनों ही वित्तीय सलाहकारों के कम तनाव में योगदान देते हैं; अपने करियर के शुरूआती 10 सालों वाले सलाहकारों ने उन सलाहकारों से 20% ज्यादा तनाव महसूस किया जो 20 साल से अधिक से सलाहकार थे। वित्तीय सलाहकारों के लिए एक पेशेवर कोच सुज़ैन मुसेर्स ने पाया कि वित्तीय सलाहकार होने की कई चुनौतियाँ शुरुआती वर्षों में सामने आती हैं।

मुसेर्स ने कहा "पहले पांच साल, वे कुछ नहीं करते बस संभावित ग्राहकों को तलाशते हैं, व्यवसाय का निर्माण करते हैं।" “उनका ध्यान और अधिक पर केन्द्रित है। यह अच्छा है लेकिन कभी कभी वह इसके संतुलन को नज़रंदाज़ कर देते हैं।”

यहाँ से स्वयं की देखभाल की ज़रूरत पड़ती है। यह शब्द 1980 के दशक में लोकप्रिय हुआ, जब चिकित्सा पेशेवरों ने केवल स्वास्थ्य के बजाये वेलनेस के महत्व को पहचाना। मानसिक बीमारी पर राष्ट्रीय गठबंधन (NAMI) इसकी तुलना उस सलाह से करते हैं जो विमान पर आपको मिलती है। दूसरों की सहायता करने से पहले अपना ऑक्सीजन मास्क पहनें। इसके पीछे का विचार यह है कि यदि आपने अपनी सहायता नहीं की है तो आप दूसरों की सहायता नहीं कर सकते।

स्वयं –देखभाल की तकनीकें

  • अपनी सभी व्यक्तिगत सुरक्षा एवं स्वास्थ्य ज़रूरतों को प्राथमिकता दें।
  • नियंत्रित श्वास तकनीकों को सीखें और उनका अभ्यास करें।
  • पर्याप्त नींद लें।
  • अपने रोजाना के कैफीन सेवन को 300 मिलीग्राम या उससे कम रखें।
  • तनाव के शारीरिक लक्षणों को कम करने के लिए तनावमुक्त होने की तकनीकों को सीखें और उनका अभ्यास करें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • अतिशयोक्ति भरे शब्दों और नकारात्मक विचारों को पहचानें और उन्हें चुनौती दें।
  • प्रमाण आधारित उत्सुकता वेबसाइट या स्वयं-सहायता पुस्तकों को इस्तेमाल करें।

कनाडा मानसिक स्वास्थ्य आयोग

जियोंग ने कहा, “ग्राहकों को वित्तीय रूप से स्थिर वातावरण का किस तरह लाभ उठाया जाए कि सलाह देने वाले पेशेवरों के रूप में हमें संतुलित और मानसिक रूप से स्वस्थ होना ज़रूरी है।” “यदि हम तनावग्रस्त हैं, तो हम ग्राहकों को कैसे सुनेंगे और उन्हें कैसे सांत्वना देंगे, जब वह खुद घबराहट और तनाव से ग्रस्त हों?

“हमें अपने मानसिक स्वास्थ्य का लंबे समय तक अपने ग्राहकों को सेवा प्रदान करने वाले भागीदारों के रूप में ध्यान रखना है।”

जहाँ एक ओर कुछ यूनिवर्सल स्वयं-देखभाल तकनीकें हैं (साइडबार देखें), इस बात पर ध्यान देना ज़रूरी है कि एक प्रकार की स्वयं-देखभाल सबके लिए काम नहीं करती। मूलमंत्र ऐसे अभ्यास को खोजना है जो आपका ध्यान तनाव देने वाली चीज़ों से हटाता है और आपको अपने ऊपर ध्यान देने देता है। मेपिंग के लिए इसका मतलब है अपने दो कुत्तों के साथ खेलना। जिओंग अपना खाली समय अच्छी लेखनी, कला और संगीत का आनंद लेते हुए बिताते हैं। ब्राउन पूरी हफ्ते अपने साथ हुईं सकरात्मक चीज़ों को नोट करने के लिए एक आभार पुस्तिका रखती हैं, जो उन्हें चीज़ों को अच्छी तरह से देखने देती है। हॉब्स पाते हैं कि व्यायाम उन्हें कार्य से अपना ध्यान हटाने में सहायता करता है।

सांस लेना और ध्यान लगाना

ध्यान लगाने को कई मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों द्वारा
स्वयं देखभाल के लिए एक ज़रूरी घटक माना जाता है।
सुज़ैन मुसेर्स इस ध्यान लगाने के आसान अभ्यास की सलाह देती हैं।
धीरे-धीरे सांस अंदर और बाहर लेते हुए 10 बार गहरी सांस लें।
संभव है कि आप 10 वें तक न पहुंचें, लेकिन आप कम व्याकुल
और अधिक शांत महसूस करेंगे। एक ऐप-आधारित उपाय पसंद है?
हॉब्स Calm की अनुशंसा करते हैं, जबकि ब्राउन
अपनी एप्पल की घड़ी पर ब्रीथ इस्तेमाल करती हैं।

मुसेर्स ने कहा, “यह खुद को पहले रखने और यह सुनिश्चित करने कि आप स्वस्थ हैं, के बारे में है।”

सलाहकार अपने पेशे से होने वाले तनाव से अभिभूत होने पर किसी से बात करने के महत्व के बारे में भी बताते हैं, चाहे वह एक सहकर्मी हो, मेंटर हो, अध्ययन समूह का सदस्य हो या एक मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर हो।

ब्राउन इस बात का ध्यान रखती हैं कि वह ऐसे सलाहकारों की सहायता करें जो जूझ रहे हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय चैरिटी लाइफलाइन के पास भी कुछ लोगों को भेजा है, जो संकट समर्थन और आत्महत्या रोकथाम सेवाओं तक पहुँच प्रदान करती है।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि यह हम सबका कर्तव्य है कि हम दूसरे सलाहकारों की जो भी हो रहा है उससे गुजरने में सहायता करें।” “मानसिक स्वास्थ्य कैंसर जैसी बीमारी है, और इसका कैंसर की तरह ही इलाज किया जाना चाहिए। जितना अधिक लोग समझते हैं कि आपको सहायता मिल सकती है, बेहतर बात होगी।”

अपने हिस्से के लिए, हॉब्स ने कहा कि उन्होंने अतीत में पेशेवर सहायता प्राप्त कीऔर अन्य सलाहकारों से उसकी अनुशंसा की, जो खुद को अपने कार्य के दौरान आने वाले चुनौतियों से जूझता पा सकते हैं।

उन्होंने कहा, “इसे अभी भी कुछ हद तक बुरा माना जाता है।” "हालांकि, मेरा मानना है कि किसी ऐसे व्यक्ति से बात करना जो परिस्थिति से ज्यादा जुड़ा न हो और जिसके पास मानसिक स्वास्थ्य परेशानियों से जूझने के सही उपकरण हो जैसे भी वो आये हों, ज्यादा लाभदायक होगा। यह निश्चित रूप से मेरे लिए था।”

मनोचिकित्सक कैस कहते हैं कि ऐसे संकेत हैं कि पेशेवर उपचार आवश्यक हो गया है, जैसे कि स्वाभाव में बदलाव और अनुपस्थिति। उन्होंने कहा, "यदि आपको हर सुबह बिस्तर से उठने में परेशानी होती है और आप ऐसा महसूस कर रहे हैं कि आप अपने ईमेल से दूर भाग रहे हैं, तो यह नई रणनीतियों को खोजने का समय है।" “जब आप बर्नआउट या माइल्ड डिप्रेशन का अनुभव कर रहे होते हैं तो बहुत कुछ ऐसा हो जाता है जैसे आप अपने ही विचारों का शिकार हो रहे हैं। आपको उन लोगों को इंटरसेप्ट करना होगा और उन्हें बदलना होगा।”

दूसरे शब्दों में, सोच आवश्यक है।

ब्राउन ने कहा, "यह सब सोच, सकरात्मक रहने के बारे में है।" “खुद को सकारात्मक लोगों के आसपास रखें। अभी भी आशा है। यदि आपको सहायता चाहिए, आप मांग सकते हैं। इसे तब तक न छोड़ें जब तक बहुत देर हो जाए।”

और इस दौरान एक खुशनुमा दिन में टहलें, दोस्तों के साथ सिनेमा का आनंद उठायें या उस महंगे भोजन का आनंद लें जिसके बारे में आप बहुत दिन से सोच रहे थे। क्योंकि जब वित्तीय सलाहकारों के लिए स्वयं देखभाल की बात आती है तो यह केवल हैशटैग से कहीं ज्यादा है।

संपर्क

जेनी ब्राउन jbrown@jbsfinancial.com.au

डीन हॉब्स dean@willsandtrusts-uk.com

हो यो जिओंग nopain1117@gmail.com

सिंडी हुआंग मेपिंग cindyhuang@pruadviser.com.sg

 

{{GetTotalComments()}} Comments

Please Login or Become A Member to add comments