Select Language

Check Application Status
en

Resource Zone

दुनिया भर में MDRT: रेगुलेशन रीवर्बरैशन

Elizabeth Diffin

Rate 1 Rate 2 Rate 3 Rate 4 Rate 5 0 Ratings Choose a rating
Please Login or Become A Member for additional features

Note: Any content shared is only viewable to MDRT members.

सरकारी निगरानी ऑस्ट्रेलियाई सलाहकारों के लिए चुनौतियों, अवसरों को बढ़ाती है।

यदि आपके पास ऑस्ट्रेलिया के वित्तीय सेवा उद्योग का मूल्यांकन करने के लिए केवल एक शब्द हो तो उसे चुनना इतना मुश्किल नहीं होगा। पिछले कुछ वर्षों में ऑस्ट्रेलिया बिना विवाद एक चीज़ से पहचाना गया है: नियम।

ऑस्ट्रेलिया में नियम कोई नहीं बात नहीं है। जब 1997 में वॉलिस रिपोर्ट जारी हुई थी तब वह अपने साथ ढेर सारे नए नियम लाई थी, और आगे के वर्षों में सरकार की निगरानी बढ़ती गई है। लेकिन 2018 में बैंकिंग, सेवानिवृत्ति और वित्तीय सेवा उद्योग में दुराचार पर गठित रॉयल आयोग ने चीज़ें फिर से बदल दी हैं – ऐसे तरीकों से जिनका असर लम्बे समय तक रहेगा।

एडम मैककैन, CFP, DFP एडिलेड से 11 वर्षों से MDRT सदस्य के अनुसार दशकों से ऑस्ट्रेलियाई बैंक वित्तीय उत्पादों के निर्माण और वितरण पर हावी रहे हैं। लेकिन रॉयल आयोग द्वारा वित्तीय सेवा इकाइयों में हो रहे व्यापक गलत कामों का खुलासा करने के बाद बैंकों ने वित्तीय सलाह देना बंद कर दिया। इसके कारण कई स्वतंत्र वित्तीय सलाहकार उत्पन्न हो गए, जिनमें से कई के पास अपना खुद का वित्तीय सेवा लाइसेंस है, बजाये किसी बंधे एजेंट की तरह काम करने के।

मैककैन ने कहा, “मेरे इस उद्योग में शुरुआत करने के बाद बढ़ते हुए पेशेवर और सलाहकार के रूप में लाइसेंस के लिए शिक्षा के उच्च स्तर की आवश्यकताओं के कारण कई महत्वपूर्ण बदलाव हुए हैं।”

शिक्षा एक ज़रूरी फोकस बन गई है, नए नियमों के अनुसार सभी सलाहकारों को जनवरी 2021 तक एक अनिवार्य योग्यता परीक्षा देनी है और जनवरी 2024 तक विश्वविद्यालय उपाधि के बराबर शिक्षा प्राप्त करनी है। ये आवश्यकताएँ सभी सलाहकारों पर लागू होती हैं, उन पर भी जो कई वर्षों से इस पेशे में रहे हैं जैसे कि मेलबर्न की 11 वर्षों से MDRT सदस्य जेनी ब्राउन, CFP, FChFP

जो बदलाव के साथ बढ़ने के लिए तैयार नहीं हैं उनके लिए राजस्व पर प्रभाव पड़ता रहेगा। हर स्तर पर लागत बढ़ेगी।
- मैथ्यू थॉमस फोगार्टी

यह व्यापक स्तर पर माना जाता है कि नई शिक्षा आवश्यकताओं का देश के कई वित्तीय सलाहकारों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा, विशेषज्ञों द्वारा अनुमान लगाया जा रहा है कि लगभग एक तिहाई सलाहकार सेवानिवृत्त हो जायेंगे या पेशा छोड़ देंगे।

ब्राउन ने कहा, “हमें लगातार प्रशिक्षण और शिक्षा के साथ चलना होगा और सुनिश्चित करना होगा कि हमारी टीम किसी भी आने वाली चुनौती के लिए अच्छी तरह तैयार हो।”

उन बदलावों में कमीशन से शुल्क पर आना शामिल है। मैककैन के अनुसार, ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने पहले वर्ष के प्रीमियम के अधिकतम 120% राशि के बराबर कमीशन से घटाकर जनवरी 2020 तक अधिकतम 66% करना अनिवार्य कर दिया है। रॉयल आयोग ने यह भी अनुशंसा की है कि बीमा कमीशन पर पूरी तरह रोक लगा दी जाए हालाँकि इस पर निर्णय अभी नहीं हुआ है।

मूर्बिन के 17 वर्षों से MDRT सदस्य मैथ्यू थॉमस फोगार्टी CFP, Dip FP, ने कहा “सलाहकारों को वैतनिक में बदलाव इस समय काफी स्थानीय है। “जो बदलाव के साथ बढ़ने के लिए तैयार नहीं हैं उनके लिए राजस्व पर प्रभाव पड़ता रहेगा। हर स्तर पर लागत बढ़ेगी”

यह लागत ज़ाहिर है ग्राहकों पर भी प्रभाव डालेगी, और फोगार्टी का कहना है कि यह जानना मुश्किल है कि सलाहकार की लागत में से कितना हिस्सा ग्राहकों पर डालना चाहिए।

उन्होंने कहा “शुरूआती चुनौती ग्राहकों के लिए यह न समझ पाना है कि शुल्क के बदले में उन्हें कितना मूल्य मिल रहा है।”

मैककैन की प्रैक्टिस में, यह चर्चा और भी कठिन बन गई है। उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए कि वह सही शुल्क ले रहे थे ग्राहकों को दी जाने वाली सेवा की लागत का विश्लेषण किया और अंतत उन्हें कुछ शुल्क बढ़ाना पड़ा। और प्रैक्टिस की लाभदायिकता की खातिर उन्हें नीचे के 20% ग्राहक आधार को बेचना पड़ा।

उन्होंने कहा “ग्राहक पूरी तरह इस बात की प्रशंसा नहीं कर पाते कि सख्त अनुपालन आवश्यकताओं को पूरा करने में कितना समय और विशेषज्ञता लगती है और हमें किस स्तर की जानकारी प्राप्त करनी पड़ती है।”

ऑस्ट्रेलियाई सलाहकारों को अपने ग्राहकों और संभावित ग्राहकों के साथ सख्त मानकों का पालन करना पड़ता है, जो यह सुनिश्चित करने के लिए बने हैं कि वे सब ग्राहक के हित में काम कर रहे हैं। सलाहकारों को एक विस्तृत तथ्य खोज और जोखिम प्रोफाइल पूरा करना पड़ता है और वित्तीय सलाह देने के पहले जुड़ने की शर्तें देनी पड़ती हैं। मैककैन के अनुसार, इसे पूरा करने में लगभग 10 घंटे लगते हैं और जटिल मामलों में विस्तृत तथ्य खोज पूरा करने और लिखित सलाह देने में 30 घंटे लगते हैं।

ब्राउन ने कहा “हमने उद्योग में कई बदलाव देखे हैं, कुछ अच्छे और कुछ उतने अच्छे नहीं।” “लंबे समय के लिए कई ख़राब चलन रहे हैं। बदलाव मुझे दुखी करते हैं लेकिन हमारा व्यवसाय और मजबूत होने वाला है। अगले पांच वर्षों में हम आज की तुलना में अधिक सफल रहेंगे।”

फोगार्टी ने यह भी कहा कि नियमों में इन बदलावों की झुंझलाहट के बावजूद वे वित्तीय सेवा पेशे में और भी अधिक संभावनाएं दर्शाते हैं।

उन्होंने कहा “रॉयल आयोग जांच उन लोगों के लिए एक बहुत अच्छा अवसर प्रस्तुत करती है जो बदलाव को अपनाने को तैयार हैं।” “आप नेटफ्लिक्स की दुनिया में एक ब्लॉकबस्टर वीडियो की दुकान नहीं बनना चाहते हैं।”

फोर्गाटी का मानना है कि बदलावों के बावजूद सलाहकर बनने का उद्देश्य वही है: ग्राहकों की मदद करना। उन्हें विशेष रूप से 50 वर्ष की उम्र का एक जोड़ा याद है जो तब ग्राहक बने जब पति को जानलेवा बीमारी थी। फोर्गाटी उनकी स्थिति को और स्पष्ट करने के लिए “वित्तीय कुप्रबंधन” का हल निकाल पाए थे और कुछ मददगार बीमा भुगतान प्राप्त कर पाए थे।

अंततः जब पति की मृत्यु हो गई तब उनकी विधवा सुरक्षित थीं और वो नया घर भी खरीद पायीं। फोगार्टी की मदद का प्रभाव अभी भी महसूस होता है – वह अपना आभार हर ग्राहक समीक्षा में प्रकट करती हैं और उन्होंने परिणामस्वरूप कई परिवारों को उनका संदर्भ दिया है।

“हालाँकि कुछ वर्षों से कुछ चुनौतियां रही हैं, लेकिन अभी भी ऐसे ग्राहक हैं जिन्हें अच्छी सलाह चाहिए। फोर्गाटी ने कहा हम उनके लिए अच्छा मूल्य ला सकते हैं और उनके जीवन को बेहतर बना सकते हैं।” “जहाँ हमेशा बाहरी कारक रहेंगे यह तथ्य कभी नहीं बदलेगा कि हम लोगों के लिए बदलाव ला सकते हैं।”

संपर्क

एडम मैककैन adamm@bartons.com.au

जेनी ब्राउन jbrown@jbsfinancial.com.au

मैथ्यू थॉमस फोगार्टी mathew@fpbydesign.com.au

 

{{GetTotalComments()}} Comments

Please Login or Become A Member to add comments