Select Language

Check Application Status
en

Resource Zone

आपको अपने हाथ अपनी पीठ के पीछे क्यों नहीं रखने चाहिए

Liz DeCarlo

Rate 1 Rate 2 Rate 3 Rate 4 Rate 5 0 Ratings Choose a rating
Please Login or Become A Member for additional features

Note: Any content shared is only viewable to MDRT members.

भावभँगिमा क्लाइंट और संभावित क्लाइंट को तुरंत यह दर्शाती है कि आप क्या हैं।

हम आकर्षक लोगों को देखते ही पहचान जाते हैं, लेकिन किसी व्यक्ति को क्या आकर्षक बनाता है यह परिभाषित करना चुनौतीपूर्ण है। यहां वनेस्सा वैन एडवर्ड्स की भूमिका आती है। उन्होंने अपना करियर आकर्षण के छुपे तत्वों को समझने और लोग अधिक आकर्षक होना कैसे सीख सकते हैं, यह समझने से बनाया है।

वनेस्सा एडवर्ड्स, एक स्वभावजन्य अनुसंधानकर्ता और भावभँगिमा विशेषज्ञ के कहा कि “आकर्षण जोश और योग्यता का संतुलन है।” लोग आपसे मिलते ही आपके बारे में धारणाएं बनाने लगते हैं और अत्यधिक करिश्माई लोग तुरंत विश्वास के संकेत देते हैं।

वैन एडवर्ड्स ने कहा, “सबसे पहले हमारा जिस चीज़ पर ध्यान जाता है, वो किसी के हाथ होते हैं।” “हाथ हमारे भरोसे को दर्शाते हैं। वो हमारी नियत दिखाते हैं।” जिन लोगों से आप मिलते हैं उन्हें आपके हाथ दिखने चाहिए, उन्हें अपनी पीठ के पीछे रखने से लोग आप पर कम भरोसा करते हैं।

हाथ आपकी योग्यता को भी दर्शाते हैं। आकर्षक लोग अपने शब्दों की रूपरेखा बनाने के लिए अपने हाथों का इस्तेमाल करते हैं। वैन एडवर्ड्स नए लोगों से मिलते समय बातें समझाने के इशारे और हाथों को जेब से बाहर रखकर हाथों को दिखाने का अभ्यास करने की सलाह देती हैं।

हाथ मिलाते समय आपको सामने वाले व्यक्ति की आंखों में देखना चाहिए। उन्होंने कहा “आखें मिलाने से जल्दी कनेक्शन बनते हैं, और इसका इस्तेमाल यह जानने के लिए किया जा सकता है कि दूसरे लोग हमारे बारे में कैसा महसूस करते हैं।

वैन एडवर्ड्स ने गौर से देखने (गेजिंग)के तीन प्रकार बताए हैं:

  • पवार: चेहरे के ऊपर की ओर देखें। यह योग्यता दिखाता है।
  • सोशल: आंखों और मुंह के बीच देखना। इस तरह से देखना दोस्ती और भरोसा दर्शाता है।
  • इंटीमेट: आंखों से आंखें मिलाकर और कॉलर बोन की ओर। जब हम संभावित साथी की खोज करने की कोशिश करते हैं हम थोड़ा नीचे देखते हैं।

उन्होंने कहा कि महिलाएं डिफ़ॉल्ट रूप से सोशल गेज़िंग करती हैं और पुरुष डिफ़ॉल्ट रूप से पॉवर गेज़िंग करते हैं। लेकिन पुरुष और महिलाओं को अपने देखने के तरीके को उपयोगी बनाना चाहिए, और पावर गेज़िग का इस्तेमाल योग्यता दिखाने के लिए और सोशल का अपनापन जताने के लिए करना चाहिए।

हमारे शब्द भी मायने रखते हैं। किसी नकारात्मक बात के साथ बातचीत शुरू करने से बचें, जैसे “बहुत ज़्यादा ट्रैफिक था,” या “मैं बहुत तनाव में हूं।” खास बनने का अवसर खोजें- अपने विचारों, व्यवहार और कार्यों को आकार देने के लिए शब्दों का प्रयोग करें। इसलिए बातचीत की शुरुआत “यहां आराम से आ गया” या “यह दिन का अंत करने का बहुत अच्चा तरीका है” से करें।

वैन एडवर्ड्स ने कहा “आप अच्छाई खोज रहे हैं और दूसरों से अच्छे का ज़िक्र कर रहे हैं। “अच्छाई के लिए प्राइम करने के अवसर को कभी व्यर्थ न जाने दें। प्रत्येक व्यवसाय परिचय प्राइमिंग के बारे में होना चाहिए, और उसी तरह टीम के सदस्यों और जीवनसाथी के साथ बातचीत होनी चाहिए।”

वैन एडवर्ड्स ईमेल के साथ भी ऐसा करने की सलाह देती हैं। उन्होंने कहा “पहले यह सोचें कि आप किसी को कैसा महसूस करवाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, उन अवसरों को उपयोगी बनाए।” कैलेंडर के आमंत्रण का नाम साधारण बैठक के नाम से बदलकर कुछ ऐसा रखें जैसा आप व्यक्ति को महसूस करवाना चाहते हैं, जैसे बैठक को “रचनात्मक कार्य सत्र” बोलना। स्नेही शब्द इस्तेमाल करें जैसे कि “साथ,” “मिलकर” और “मैं साफ़दिल हूं।” योग्य वाक्यांशों का इस्तेमाल करें जैसे कि “चलिए ब्रेनस्ट्रोम करें।”

वैन एडवर्ड्स ने कहा, “जब आप ऐसा करते हैं, तब आप मिलने से पहले ख़ास बन जाते हैं।” “इस तरह आने के पहले ही हम लोगों को उनका सबसे बेहतर रूप बनने के लिए तैयार कर देते हैं।”

अपने विचारों को सही तरह व्यक्त करें

वैन एडवर्ड्स ने कहा, “आपकी आवाज़ आकर्षक बनना सीखने का एक और अवसर है। आप अपनी आवाज़ को अपनी सांस से नियंत्रित करते हैं, और सांस छोड़ते समय बोलने से टोन नीचे होती है। लोग हमें अधिक योग्य समझते हैं और एक निचली आवाज़ सुनने से उन्हें अच्छा महसूस होता है।

प्रश्न जैसा बोलने से बचें, जहां आपकी आवाज़ वाक्य के अंत में ऊंची हो जाती है। वैन एडवर्ड्स ने कहा, “जब आप ऐसा करते हैं, तब आप लोगों को बताते हैं कि जो मैं बोल रहा हूँ मैं उस पर यकीन नहीं करता और न ही आपको करना चाहिए।

वैन एडवर्ड्स ने कहा कि हेलो बोलते समय सांस छोड़ें, प्रश्न जैसा सुनाई देने से बचना सीखने के लिए अपनी बातचीत को रिकॉर्ड करें, और सख्त खबर, भाव, और समय सीमा नीची आवाज़ में बोलने का अभ्यास करें।

 

{{GetTotalComments()}} Comments

Please Login or Become A Member to add comments